पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय ओर गैस की रामबाण दवा पतंजलि

आज Health Tips मे जानेंगे पेट में गैस बनने वाली चीजों के नाम, गैस से होने वाले रोग, पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय आयुर्वेद मे गैस की रामबाण दवा पतंजलि। आज के समय मे 85 %  लोग पेट की गॅस, कब्ज ओर असिडिटी जैसे समस्या से परेशान है । खास करके  पेट की गैस जो शरारिक पीड़ा के साथ साथ मानसिक ओर सामाजिक समस्या का कारण बनती है।

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय जानने से पहेले यह जानना अत्यंत महत्वपूर्ण है की आखिर पेट मे गॅस बनती क्यूँ है । खाना खाने के बाद कई कारणों से पेट में गैस बन सकती है, जिनमें नॉर्मल डायजेशन प्रोसेस  एक प्रमुख कारण है  डॉक्टर ओर मेडिकल विशेषज्ञों के मुताबिक  5 से लेकर 15 बार पास होनी वाली गॅस पूरी तरह नॉर्मल है ओर इस पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय की जरूरत नहीं पड़ती।

लेकिन जिन लोगों दिन मे 20 से 25 या उससे अधिक बार गॅस पास करना पड़ता है उन्हे पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय जानना ओर ओर गॅस खत्म करना अत्यंत जरूरी है नहीं तो ऐसे पेट की गैस किसी गंभीर बीमारी का रूप धारण कर सकती है । 

खाना खाने के बाद पेट में गैस बनना

मित्रों किसी भी रोग को इलाज करना  है तो उसके कारण या वजह को जानना बहोत जरूरी है । असिडिटी , कब्ज जैसे समस्या गैस के लक्षण है  लेकिन सामान्यतः पेट मे गैस बनने की 6 प्रमुख वजह है । 

1 खाते समय या पानी पीते वक्त निगली हुई हवा:

जब हम खाते हैं, पीते हैं या यहां तक ​​कि बात करते हैं, तो हम भी हवा निगलने लगते हैं, जो पेट में जमा हो सकती है और गैस का कारण बन सकती है। लेकिन निगली हुई हवा आंतों के माध्यम से भी यात्रा कर सकती है और शरीर के अन्य हिस्सों जैसे कोलन, मलाशय और यहां तक ​​कि फेफड़ों में भी गैस का निर्माण कर सकती है।यह कई बार महुसूस न होने वाला प्रोसेस है । 

2 अधूरा पाचन:

जो भोजन पेट में ठीक से नहीं पचता है वह किण्वित यानि फर्मनटेड हो सकता है और गैस पैदा कर सकता है। यह तब हो सकता है जब हम बहुत जल्दी-जल्दी खाते हैं या जब हम ऐसे खाद्य पदार्थ खाते हैं जिन्हें पचाना मुश्किल होता है, जैसे बीन्स और पत्ता गोबी जैसी  सब्जियां।

इसके अतिरिक्त जो लोग मासहार का या ऐनमल प्रोटीन का सेवन करते है उन्हे अकसर अपचन ओर गैस का सामना करना पड़ता है एक तो ऐनमल प्रोटीन  फर्मनटेड होने मे अधिक गैस छोड़ता है आयुर्वेद की माने तो मासहार को डायजेस्ट होने मे 48 तो 72 घंटे का वक्त लगता है ।

3 बैक्टीरियल फरमनटेशन या  किण्वन:

आंत में मौजूद सामान्य बैक्टीरिया बिना पचे हुए खाद्य कणों को किण्वित करते हैं और गैस का उत्पादन करते हैं। यह शरीर मे होने वाली पाचन क्रिया की  सामान्य परीक्रीया है । 

4 लैक्टोज या डेयरी उत्पादों असहिष्णुता/ अपचन :

लैक्टोज दूध ओर और डेयरी उत्पादों में पाई जाने वाली शुगर होती है बहोत सारे लोग दूध और डेयरी उत्पादों को आसानी से पचा नहीं पाते। ऐसे मे यह एक पेट की गैस ओर दस्त का कारण बन सकती है 

5 ग्लूटेन युक्त खाद्य पदार्थ अपचन या असहिष्णुता:

कुछ लोगों को ग्लूटेन जैसे कुछ खाद्य पदार्थों जैसे गेहूं की भूसी, राई,  के प्रति असहिष्णुता हो सकती है,साथ ही मे बियर ओर सोया सॉस मे मे भी ग्लूटेनअधिक मात्र मे पाया जाता है जिससे गैस और अन्य पाचन संबंधी लक्षण हो सकते हैं।

6 दवाएं:

कुछ दवाएं साइड इफेक्ट के रूप में गैस, ब्लोटिंग और अन्य गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल लक्षणों का कारण बन सकती हैं, जैसे कि एंटीबायोटिक्स, प्रोटॉन पंप इनहिबिटर और नॉन-स्टेरायडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग्स (एनएसएआईडी), इससे पूरे शरीर में गैस का निर्माण भी हो सकता है।

7 गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल डिसऑर्डर:

कुछ स्थितियां, जैसे इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम (IBS) और इंफ्लेमेटरी बाउल डिजीज (IBD), गैस और अन्य पाचन संबंधी लक्षण पैदा कर सकती हैं। उन खाद्य पदार्थों पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है जो गैस का कारण बनते हैं और उनसे बचने की कोशिश करते हैं, साथ ही एक स्वस्थ आहार और जीवन शैली बनाए रखने से खाना खाने के बाद पेट में गैस बनने को कम करने में मदद मिल सकती है।

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय
पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

पेट में गैस बनने वाली चीजों के नाम

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय जानने से पहेले यह जानना अत्यंत महत्वपूर्ण है आखिर वो कोनसी चीजे या या खाद्य पदार्थ हैं जो गैस पैदा करते है ऐसे चीजों पता करना ओर उससे परहेज करना भी  पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय हो सकता है तो जानते है उन 6 तरीके के फूड्स को जो सर्वाधिक गैस बनाती है ।

1 लेग्यूम् फलियां: बीन्स,

दाल और छोले जैसे खाद्य पदार्थ फाइबर और जटिल कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होते हैं, जिन्हें पचाना शरीर के लिए मुश्किल हो सकता है, जिससे गैस बनती है।

2 कुरकुरी सब्जियां:

ब्रोकोली, फूलगोभी और गोभी जैसी सब्जियों में रैफिनोज नामक कार्बोहाइड्रेट होता है, जिसे पचाना मुश्किल होता है और गैस का कारण बन सकता है।

3 फ्रुक्टोज:

कुछ लोगों को फ्रुक्टोज को पचाने में कठिनाई होती है, फलों में पाई जाने वाली एक प्राकृतिक शुगर और कुछ सब्जियां जैसे प्याज और आटिचोक। गन्ना, चुकंदर और मकई मे भी फ्रुक्टोज का प्रमाण अधिक रहता है

4 लैक्टोज:

जो लोग लैक्टोज युक्त पदार्थ जैसे दूध, दही , बटर , पनीर ओर अन्य डेयरी पदार्थ पेट की गैस, असिडिटी ओर कब्ज जैसी समस्या पैदा करते है ।

5 सॉर्बिटोल:

चीनी मुक्त गम और कैंडी जैसे कई चीनी मुक्त उत्पादों में मिठास के तोर पर  स्वीटनर का उपयोग की जाने वाली चीनी शराब कुछ लोगों में गैस, सूजन और दस्त का कारण बन सकती है।

6 हाई फाइबर फूड्स :

उच्च फाइबर वाले खाद्य पदार्थ जैसे साबुत अनाज, फल और सब्जियां पाचन के लिए फायदेमंद हो सकते हैं लेकिन बहुत अधिक सेवन करने से गैस, सूजन और कब्ज हो सकता है। यह भी ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि कुछ खाद्य पदार्थ जो एक व्यक्ति के लिए गैस का कारण हो सकते हैं, उन पर समान प्रभाव नहीं डाल सकते हैं।

हमने लग भग सारे पेट मे गॅस  पैदा करने वाले उपाय जान लिए है अब बारी है इस पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय देखने की तो आए जानते है उपाय 

 

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

देखिए पेट मे गैस होना एक बीमारी नहीं है  बल्कि यह एक खराब लाइफ स्टाइल का परिणाम है ।  ऐसे मे पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय के तोर पर दवा से जादा खान पान ओर सही लाइफ स्टाइल अधिक महत्वपूर्ण है जो आप को राहत दे  एक एक कर देखते पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय जो अपकी गैस कि परेशानी को जड़ से खत्म करे ।

1 गैस पैदा करने वाले खाद्य पदार्थ से परहेज 

ऐसे खाद्य पदार्थों से बचें जो गैस पैदा करने के लिए जाने जाते हैं, जैसे बीन्स, दाल, ब्रोकोली, गोभी, प्याज और कार्बोनेटेड पेय। गैस पैदा करने वाले सभी पदार्थ की लिस्ट उपर दी है मैने ।  इसलिए पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय मे पहिला उपाय यह हो जाता है की आप को किस फूड से गैस पैदा हो रही उसे पहचाने ओर उससे परहेज करना 

2 पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय के लिए जरूरी अच्छी 8 से 10 घंटे की नींद 

यदि आप को अनिद्रा है तो आप पूरी नींद नहीं लेते तो इससे अपचन, कब्ज होता है जो गैस पैदा करने का प्रमुख कारण बनता है ऐसे मे पूरी 8-10 घंटे नींद लेना भी पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय जो आसानी से कर् सकते है । इस से कब्ज ओर अपचन जैसे समस्या से छुटकारा मिलता है खाने का पचन सही होता है ओर आप के पेट मे गैस बनाना 60 % तक कम होता है 

3 पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय के लिए अधिक बार छोटे-छोटे भोजन 

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय के लिए छोटे छोटे , अधिक बार भोजन करें। पूरे दिन में अधिक बार छोटे-छोटे भोजन खाने से पाचन तंत्र द्वारा उत्पादित गैस की मात्रा को कम करने में मदद मिल सकती है।

साथ ही खाने को धीरे धीरे खाने से गैस को निगलने की समस्या कम होती है इसलिए पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय मे धीरे धीरे खाना ओर कम मात्रा मे अधिक बार खाना अत्यंत महत्वपूर्ण उपाय होता है जो बेहतर लाइफ स्टाइल प्रदान करता है । 

3 पुदीना का उपयोग भी है पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

पुदीना अक्सर गैस और सूजन सहित पाचन संबंधी समस्याओं के लिए प्राकृतिक उपचार के रूप में प्रयोग किया जाता है। माना जाता है कि पेपरमिंट में मेन्थॉल गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट में मांसपेशियों को आराम देता है, जो गैस और सूजन को कम करने में मदद कर सकता है। पेपरमिंट ऑयल का उपयोग अक्सर कैप्सूल में या इस उद्देश्य के लिए एक आवश्यक तेल के रूप में किया जाता है।

दिन मे एक बार पुदीने की  चाय पीना पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय मे अत्यंत लाभदायक उपाय हो सकता है ।  पेपरमिंट कैप्सूल लेने से भी गैस और सूजन को कम करने में मदद मिल सकती है, लेकिन पेपरमिंट कैप्सूल लेने  से पहले स्वास्थ्य देखभाल या पेशेवर डॉक्टर से परामर्श करना हमेशा अच्छा होता है।

4 पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय के लिए अदरक का उपयोग

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय
पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

अदरक गैस और सूजन सहित पाचन संबंधी समस्याओं के लिए एक लोकप्रिय प्राकृतिक उपचार है। अदरक में सक्रिय यौगिक, जैसे कि जिंजरोल और शोगोल में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो पेट को शांत करने और पाचन को बढ़ावा देने में मदद कर सकते हैं।

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय के लिए अदरक का उपयोग करने के कई तरीके हैं:

1 अदरक की चाय पीना: आप ताजा अदरक को कद्दूकस करके 5-10 मिनट के लिए गर्म पानी में भिगो कर अदरक की चाय बना सकते हैं। आप अदरक के टी बैग्स का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

2 अदरक की खुराक लेना: अदरक की खुराक कैप्सूल, टैबलेट और पाउडर जैसे विभिन्न रूपों में उपलब्ध है।

3 अपने भोजन में अदरक को शामिल करना: आप सूप, स्टॉज, मैरिनेड और स्टर-फ्राई में ताजा कद्दूकस किया हुआ अदरक मिला सकते हैं या बेकिंग में अदरक पाउडर का उपयोग कर सकते हैं।

4 ताजा अदरक चबाना: बस ताजा अदरक की जड़ के एक छोटे टुकड़े को चबाएं, या भोजन के बाद कैंड अदरक के टुकड़े को चूसें।

कोई भी नया पूरक आहार शुरू करने से पहले स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श करना हमेशा सबसे अच्छा होता है। वे आपकी विशिष्ट आवश्यकताओं के लिए अदरक का सर्वोत्तम उपयोग करने के तरीके पर व्यक्तिगत सलाह और मार्गदर्शन प्रदान कर सकते हैं।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि अदरक कुछ दवाओं के साथ परस्पर क्रिया कर सकता है और इससे  पेट खराब और दस्त जैसे दुष्प्रभाव हो सकते हैं, इसलिए अदरक को उपचार के रूप में उपयोग करने से पहले स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर डॉक्टर  से परामर्श करना हमेशा सबसे अच्छा होता है।

5 पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय मे अत्यंत महत्वपूर्ण है काला नमक / ब्लैक साल्ट 

काला नमक, जिसे ब्लैक साल्ट  के रूप में भी जाना जाता है, एक प्रकार का हिमालयी सेंधा नमक है जो आमतौर पर आयुर्वेदिक और दक्षिण एशियाई व्यंजनों में उपयोग किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि इसके कई स्वास्थ्य लाभ हैं, जिनमें गैस को कम करना और कब्ज से राहत  शामिल है। काला नमक आयरन, कैल्शियम और मैग्नीशियम जैसे खनिजों से भरपूर होता है, जो माना जाता है कि पाचन को उत्तेजित करने और गैस को कम करने में मदद करता है। काले नमक में मौजूद सल्फ्यूरस  भी इसे एक अनोखा बनाता है ,  जो खाने के स्वाद को बढ़ा सकता है।

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय के लिए काले नमक का उपयोग करने के कई तरीके हैं:

1 एक गिलास गर्म पानी में एक चुटकी काला नमक मिलाएं और भोजन से पहले इसे पीने से पाचन को बढ़ावा मिलता है और गैस कम होती है।

2 खाना पकाने में काले नमक का प्रयोग करें, खासतौर पर उन व्यंजनों में जो गैस और सूजन पैदा करने के लिए जाने जाते हैं, जैसे कि सेम, मसूर और क्रसफेरस सब्जियां। एक अनोखे स्वाद और संभावित पाचन लाभ के लिए अपने सूप और सलाद में एक चुटकी काला नमक मिलाएं।

3 काले नमक का उपयोग फलों, सब्जियों और मेवों पर मसाले के रूप में भी किया जा सकता है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि काले नमक में सोडियम की मात्रा अधिक होती है, इसलिए यदि आप अपने सोडियम सेवन पर ध्यान दे रहे हैं तो इसे कम मात्रा में इस्तेमाल किया जाना चाहिए। 

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय के लिए गर्म पानी में नींबू और शहद मिलाकर पिएं

नींबू और शहद के साथ गर्म पानी पीना गैस और सूजन सहित पाचन संबंधी समस्याओं के लिए एक लोकप्रिय प्राकृतिक उपचार है। माना जाता है कि गर्म पानी, नींबू और शहद का संयोजन पाचन को उत्तेजित करने और गैस को कम करने में मदद करता है।

यहाँ पेय बनाने का तरीका बताया गया है: एक कप पानी उबालें।एक बार जब पानी गर्म हो जाए, तो इसे आंच से उतार लें और इसे थोड़ा ठंडा होने दें ताकि यह अभी भी गर्म हो, लेकिन पीने के लिए बहुत गर्म न हो। पानी में आधे नींबू का रस निचोड़ लें। पानी में एक चम्मच शहद मिला लें।सामग्री को एक साथ मिलाएं और मिश्रण को गर्म होने पर ही पिएं।

नींबू में साइट्रिक एसिड होता है जो पाचन में मदद करता है, शहद एक प्राकृतिक एंटी इंफलमेंटेरी और एंटीऑक्सीडेंट है जो पेट को शांत कर सकता है और पाचन को बढ़ावा दे सकता है।इसीलिए पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय मे यह एक अत्यंत लाभदायक उपाय  माना जाता है ।  सुबह खाली पेट गर्म पानी में नींबू और शहद मिलाकर पीने से सर्वोत्तम परिणाम मिलते हैं।

 आपके पास एसिड भाटा या संवेदनशील पेट का इतिहास है, तो आप नींबू की मात्रा कम कर सकते हैं या इस उपाय से बच सकते हैं क्योंकि इससे असुविधा हो सकती है। 

7 पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय के लिए प्रोबायोटिक्स की खुराक और पाचन एंजाइम

आंत में स्वस्थ बैक्टीरिया को बढ़ावा देने और भोजन को तोड़ने के लिए प्रोबायोटिक्स सप्लीमेंट्स और पाचन एंजाइमों को लेने का  प्रयास करें। प्रोबायोटिक्स स्वस्थ आंत बैक्टीरिया को बढ़ावा देने में मदद कर सकते हैं, जबकि पाचन एंजाइम भोजन को तोड़ने में मदद कर सकते हैं, पाचन तंत्र द्वारा उत्पादित गैस की मात्रा को कम कर सकते हैं। पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय यह उपाय भी आप कर सकते है 

8 पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय मे वरदान है सौंफ ओर अजवाईन

सौंफ के बीज (सौंफ) या कैरम के बीज (अजवाईन) का उपयोग आमतौर पर आयुर्वेदिक और भारतीय पारंपरिक चिकित्सा में गैस और पेट फूलने जैसी पाचन संबंधी समस्याओं के लिए एक प्राकृतिक उपचार के रूप में किया जाता है। माना जाता है कि इन बीजों में कार्मिनिटिव गुण होते हैं, जिसका अर्थ है कि वे आंतों से गैस के उन्मूलन को बढ़ावा देकर गैस और सूजन से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं।

गैस से राहत के लिए सौंफ या अजवायन का उपयोग इस प्रकार करें: भोजन के बाद थोड़ी मात्रा में सौंफ या अजवायन चबाएं, इससे पाचन में मदद मिलती है और गैस कम होती है। एक कप पानी में एक चम्मच सौंफ या अजवायन को 5-10 मिनट तक उबालें। तरल को छान लें और इसे चाय की तरह पिएं। पाचन में मदद करने और गैस को कम करने के लिए अपने खाना पकाने में सौंफ के बीज या अजवायन, जैसे सूप, स्टॉज और करी शामिल करें। अपने आयुर्वेदिक ओर चिकित्सा गुणों के लिए सौंफ ओर अजवाईन को पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय मे वरदान माना गया है 

आप कैप्सूल या टैबलेट के रूप में सौंफ के बीज या अजवायन की खुराक भी ले सकते हैं, लेकिन ऐसा करने से पहले आपको अपने स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श करना चाहिए। यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि ये उपचार सभी के लिए काम नहीं कर सकते हैं, और इन बीजों के अत्यधिक उपयोग से एलर्जी, पेट खराब और दस्त जैसे दुष्प्रभाव हो सकते हैं। 

9 पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय के लिए जरूरी है धूम्रपान से बचें और शराब का सेवन सीमित करें

धूम्रपान और अत्यधिक शराब का सेवन गैस और सूजन में योगदान कर सकता है। सिगरेट में निकोटीन होती है जो  आंतों के मार्ग में मांसपेशियों को अनुबंधित कर सकता है, जिससे गैस और सूजन हो सकती है। शराब, विशेष रूप से बीयर , गैस और पेट फूलने का कारण बन सकते हैं क्योंकि इनमें किण्वित कार्बोहाइड्रेट होते हैं जिन्हें पचाना मुश्किल हो सकता है।

गैस और सूजन को कम करने के लिए धूम्रपान से बचने और शराब का सेवन सीमित करने की सलाह दी जाती है। यदि आप धूम्रपान करने वाले हैं, धूम्रपान छोड़ने से आपके समग्र स्वास्थ्य को कई लाभ मिल सकते हैं, जिसमें गैस को कम करना और पेट फूलना शामिल है।

यदि आप शराब पीते हैं, तो इसे छोड़े या कम में करना महत्वपूर्ण है। यदि आप निरंतर शराब ओर धूम्रपान करते रहेंगे तो आप पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय कर के भी फायदा नहीं मिलने वाला है कुन्की धूम्रपान आप के पेट मे निरंतर गॅस बनता रहेगा । 

10 पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय के लिए भोजन के बाद टहलें

खाने के बाद टहलना गैस और सूजन को कम करने में मदद कर सकता है। शारीरिक गतिविधि, जैसे चलना, पाचन तंत्र में मांसपेशियों को उत्तेजित करने और आंतों के माध्यम से गैस के आंदोलन को बढ़ावा देने में मदद कर सकती है। यह गैस और सूजन से राहत दिलाने में मदद कर सकता है।

इसके अतिरिक्त, टहलने से तनाव कम करने और समग्र पाचन में सुधार करने में भी मदद मिल सकती है। तनाव पाचन तंत्र में मांसपेशियों को तनाव पैदा कर सकता है, जिससे पाचन धीमा हो सकता है और गैस और सूजन हो सकती है। शारीरिक गतिविधि के माध्यम से तनाव को कम करके,, आप बेहतर पाचन को बढ़ावा देने और गैस और सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं।

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय मे यह एक ऐसा उपाय है जो सबसे पहेले हर किसी को करना चाहिए जो चल फिर सकता है । इसमे कोई दवा लेने की जरुरत है न ही पैसे की

 

11 गहरी साँस लेने के व्यायाम का अभ्यास करें

साँस लेने के व्यायाम गैस और सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं। गहरी सांस लेने का कार्य पाचन तंत्र में मांसपेशियों को उत्तेजित करने और आंतों के माध्यम से गैस के संचलन को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है। यह गैस और सूजन से राहत दिलाने में मदद कर सकता है।

इसके अतिरिक्त, गहरी साँस लेने के व्यायाम भी तनाव को कम करने और समग्र पाचन में सुधार करने में मदद कर सकते हैं। तनाव पाचन तंत्र में मांसपेशियों को तनाव पैदा कर सकता है, जिससे पाचन धीमा हो सकता है और गैस और सूजन हो सकती है। गहरी साँस लेने के व्यायाम के माध्यम से तनाव कम करके, आप बेहतर पाचन को बढ़ावा देने और गैस और सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं।

  • यहाँ एक गहरी साँस लेने के व्यायाम का एक उदाहरण है:
  • आरामदायक स्थिति में बैठें या खड़े रहें
  • एक हाथ अपने पेट पर और दूसरा अपनी छाती पर रखें
  • अपनी नाक के माध्यम से गहराई से श्वास लें और अपने मुंह से श्वास छोड़ें जैसे ही आप सांस लेते हैं,
  • आपका पेट ऊपर उठना चाहिए और आपकी छाती अपेक्षाकृत स्थिर रहनी चाहिए।
  • एक पल के लिए सांस रोकें, फिर मुंह से सांस छोड़ें इस गहरी साँस लेने के व्यायाम को कई मिनट तक दोहराएं,
  • अपनी सांस पर ध्यान केंद्रित करें और अपने शरीर को आराम देने की कोशिश करें।
बेहतर होगा की आप इस व्यायाम को किसी योगा टीचर की देखभाल मे करे पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय मे गहरी साँस लेने के व्यायाम लाभदायक हो सकते है लेकिन सांस लेने मे परेशानी अस्थमा वाले मरीज अपने डॉक्टर की सलाह लिए बिना इसे न करे 
12  पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय के लिए गर्म तेल से पेट की मालिश करे 

गर्म तेल से पेट की मालिश करने से गैस और सूजन को कम करने में मदद मिल सकती है। गर्म तेल और हल्की मालिश पाचन तंत्र में मांसपेशियों को उत्तेजित करने और आंतों के माध्यम से गैस के संचलन को बढ़ावा देने में मदद कर सकती है। यह गैस और सूजन से राहत दिलाने में मदद कर सकता है।

इसके अतिरिक्त, गर्म तेलों से पेट की मालिश करने से भी तनाव कम करने और समग्र पाचन में सुधार करने में मदद मिल सकती है। तनाव पाचन तंत्र में मांसपेशियों को तनाव पैदा कर सकता है, जिससे पाचन धीमा हो सकता है और गैस और सूजन हो सकती है। एक कोमल मालिश के माध्यम से तनाव कम करके, आप बेहतर पाचन को बढ़ावा देने और गैस और सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं।

यहाँ गर्म तेल से अपने पेट की मालिश करने की प्रक्रिया :

  • तेल की थोड़ी मात्रा, जैसे नारियल का तेल या जैतून का तेल, को गर्म होने तक गर्म करें
  • अपने नीचे एक तौलिया या कंबल रखकर अपनी पीठ के बल लेट जाएं
  • सर्कुलर गति का उपयोग करके धीरे-धीरे अपने पेट में गर्म तेल मालिश करें
  • अपने पेट की मांसपेशियों को आराम देने पर ध्यान दें और गहरी सांस लें
  • करीब 5-10 मिनट तक या तेल के ठंडा होने तक मसाज करें

जो लोग खास कर के बुजुर्ग टहलना, व्यायम या अन्य  पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय नहीं कर सकते वो इस उपाय को आसानी से कर सकते है आयुर्वेद मालिश का महत्व अधिक है खास करके पंचकर्म मे । 

13 सोने से पहले गर्म पानी से नहाना

सोने से पहले गर्म पानी से नहाने से गैस और सूजन कम करने में मदद मिल सकती है। गर्म पानी पाचन तंत्र में मांसपेशियों को आराम करने और आंतों के माध्यम से गैस के संचलन को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है। यह गैस और सूजन से राहत दिलाने में मदद कर सकता है।

इसके अतिरिक्त, गर्म स्नान करने से तनाव कम करने और समग्र पाचन में सुधार करने में भी मदद मिल सकती है। तनाव पाचन तंत्र में मांसपेशियों को तनाव पैदा कर सकता है, जिससे पाचन धीमा हो सकता है और गैस और सूजन हो सकती है। गर्म स्नान के माध्यम से तनाव कम करके, आप बेहतर पाचन को बढ़ावा देने और गैस और सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं।

अपने चेहरे को सुन्दर ओर आकर्षक बनाने के लिए 20 घरेलू बूटी टिप्स जरूर पढे यंहा क्लिक करे 

आयुर्वेद मे पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय

1 पतंजलि दिव्य हृदयमृत वटी:

यह एक आयुर्वेदिक हर्बल सप्लीमेंट है जिसका उपयोग अपच, एसिडिटी और गैस के इलाज के लिए किया जाता है। पतंजलि दिव्य हृदयमृत वटी पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय मे कारगर उपाय साबित हो सकती है ।  20 ग्राम पतंजलि दिव्य हृदयमृत वटी कीमत 140 रुपये है यह पेट गैस की टेबलेट की तरह होती है 

2 पतंजलि दिव्य अविपत्तिकर चूर्ण:

पतंजलि दिव्य अविपत्तिकर चूर्ण एक आयुर्वेदिक हर्बल पाउडर है जिसका उपयोग अपच, एसिडिटी और गैस के इलाज के लिए किया जाता है। इसमें अदरक, मुलेठी और हरीतकी जैसी जड़ी-बूटियों का मिश्रण होता है जिसमें औषधीय गुण होते हैं जो गैस और सूजन से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं। 100 ग्राम  पतंजलि दिव्य अविपत्तिकर चूर्ण कीमत सिर्फ 60 रुपये है । पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय मे पतंजलि दिव्य अविपत्तिकर चूर्ण एक सस्ता उपाय है जीसे आप रोज शाम अपने डॉक्टर की सलाहनुसार ले सकते है 

3 पतंजलि दिव्य पेय हर्बल चाय:

यह आयुर्वेदिक हर्बल चाय अदरक, मुलेठी और दालचीनी जैसी जड़ी-बूटियों के मिश्रण से बनाई गई है, इसका उपयोग पाचन में सुधार और गैस से राहत पाने के लिए किया जाता है। पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय मे पतंजलि दिव्य पेय हर्बल चाय सब लोग ट्राइ कर सकते है यह सिर्फ 60 रुपए मे आती है जो 25 दिन तक चलती है गॅस के अलावा पतंजलि दिव्य पेय हर्बल चाय वजन कम करने मे भी मदत करती है 

4 पतंजलि दिव्य अजमोदादि चूर्ण :

पतंजलि दिव्य अजमोदादि चूर्ण एक आयुर्वेदिक हर्बल पाउडर है जिसका उपयोग गैस, सूजन और अपच से राहत के लिए किया जाता है। इसमें अजमोड़ा (एपियम लेप्टोफाइलम), मारीच (काली मिर्च), और पिप्पली (लंबी काली मिर्च) जैसी जड़ी-बूटियों का मिश्रण होता है, जिसमें औषधीय गुण होते हैं जो गैस और सूजन से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं। पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय मे पतंजलि दिव्य अजमोदादि चूर्ण एक सस्ता विकल्प है 100 ग्राम पतंजलि दिव्य अजमोदादि चूर्ण की कीमत सिर्फ 70 रुपये ही 

5 पतंजलि दिव्य पोदीनाहंतक चूर्ण:

पतंजलि दिव्य पोदीनाहंतक चूर्ण एक आयुर्वेदिक हर्बल पाउडर है जिसे गैस, पेट फूलना और कब्ज जैसी पाचन संबंधी समस्याओं के उपचार के रूप में बेचा जाता है। पाउडर जीरा, धनिया के बीज, अदरक, काली मिर्च, और नद्यपान जड़ सहित विभिन्न जड़ी बूटियों और मसालों का मिश्रण है, जिनके बारे में माना जाता है कि इसमें कार्मिनेटिव गुण होते हैं जो गैस और सूजन से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं।

भोजन से पहले 1-2 चम्मच पतंजलि दिव्य पौदिनहंतक चूर्ण को गर्म पानी के साथ या स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर के निर्देशानुसार लेने की सलाह दी जाती है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय मे  हर्बल उपचार हर किसी के लिए काम नहीं कर सकते हैं और इसके दुष्प्रभाव हो सकते हैं या कुछ दवाओं के साथ परस्पर क्रिया कर सकते हैं। कोई भी नया सप्लिमेंट लेने से पहले स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श करना हमेशा सबसे अच्छा होता है, खासकर यदि आपको पहले से कोई बीमारी है या आप कोई दवा ले रहे हैं।

6 पतंजलि दिव्य वत्सकादि चूर्ण:

पतंजलि दिव्य वत्सकादि चूर्ण एक आयुर्वेदिक हर्बल पाउडर है जिसे गैस, सूजन और कब्ज जैसी पाचन संबंधी समस्याओं के उपचार के रूप में बेचा जाता है। पाउडर जीरा, अदरक, काली मिर्च, और नद्यपान जड़ सहित विभिन्न जड़ी बूटियों और मसालों का मिश्रण है, जिनके बारे में माना जाता है कि इसमें कार्मिनेटिव गुण होते हैं जो गैस और सूजन से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं। पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय मे पतंजलि दिव्य वत्सकादि चूर्ण को कारगर उपाय माना जाता है 100 ग्राम चूर्ण की कीमत 320 रुपये है 

पतंजलि दिव्य वत्सकादि चूर्ण खाली पेट गैस की दवा है । पतंजलि दिव्य वत्सकादि चूर्ण 1-2 चम्मच भोजन से पहले गर्म पानी के साथ या स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर के निर्देशानुसार लेने की सलाह दी जाती है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि हर्बल उपचार हर किसी के लिए काम नहीं कर सकते हैं और इसके दुष्प्रभाव हो सकते हैं या कुछ दवाओं के साथ परस्पर क्रिया कर सकते हैं। कोई भी नया सप्लिमेंट लेने से पहले स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श करना हमेशा सबसे अच्छा होता है । 

7 पतंजलि दिव्य आंवला चूर्ण:

इस आयुर्वेदिक हर्बल पाउडर का उपयोग पाचन में सुधार, गैस से राहत और अम्लता को कम करने के लिए किया जाता है। पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय तोर पर आप पतंजलि दिव्य आंवला चूर्ण का उपयोग कर सकते है जिसकी कीमत सिर्फ 35 रुपये है । 

8 पतंजलि दिव्य त्रिफला गुग्गुलु:

पतंजलि दिव्य त्रिफला गुग्गुलु एक आयुर्वेदिक हर्बल पूरक है जो कब्ज, गैस, सूजन और जोड़ों के दर्द और सूजन जैसी पाचन समस्याओं सहित विभिन्न प्रकार की स्वास्थ्य समस्याओं में मदद करने के लिए विपणन किया जाता है। यह त्रिफला, तीन फलों का मिश्रण, और गुग्गुलु, एक राल निकालने का संयोजन है। त्रिफला अपने रेचक और सफाई गुणों के लिए जाना जाता है, जबकि गुग्गुलु अपने विरोधी भड़काऊ गुणों के लिए जाना जाता है। पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय तोर पर लिए जाने वाले पतंजलि दिव्य त्रिफला गुग्गुलु 20ग्राम की कीमत 40 रुपये है 

पतंजलि दिव्य त्रिफला गुग्गुलु की 1-2 गोलियां भोजन से पहले गर्म पानी के साथ या स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर के निर्देशानुसार लेने की सलाह दी जाती है।

9पतंजलि दिव्य गशर चूर्ण:

पतंजलि दिव्य गशर चूर्ण एक आयुर्वेदिक हर्बल पाउडर है जिसे गैस, पेट फूलना और कब्ज जैसी पाचन संबंधी समस्याओं के उपचार के रूप में लिया  है। पाउडर जीरा, अदरक, काली मिर्च, हींग, और नद्यपान जड़ सहित विभिन्न जड़ी बूटियों का मिश्रण है, जिनके बारे में माना जाता है कि इसमें कार्मिनेटिव गुण होते हैं जो गैस और सूजन से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं।

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय पतंजलि दिव्य गशर चूर्ण का सेवन 1-2 चम्मच भोजन से पहले गर्म पानी के साथ इसकी कीमत 105 रुपये है 

10 पतंजलि दिव्य पंचसाकार चूर्ण:

यह एक आयुर्वेदिक हर्बल पाउडर है जिसका विपणन विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं के उपचार के रूप में किया जाता है, जिसमें पाचन संबंधी समस्याएं जैसे गैस, सूजन, कब्ज और पेट से संबंधित अन्य समस्याएं शामिल हैं। पाउडर विभिन्न जड़ी बूटियों का मिश्रण है, जिसमें जीरा, अदरक, काली मिर्च, मुलेठी की जड़ और सेंधा नमक शामिल हैं, जिनके बारे में माना जाता है कि इसमें कार्मिनेटिव गुण होते हैं जो गैस और सूजन से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं।

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय तोर पर पतंजलि दिव्य पंचसाकर चूर्ण के 1-2 चम्मच गर्म पानी के साथ लेने की सलाह दी जाती है

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय तोर पर किसी भी दवा को लेने से पहेले यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि हर्बल उपचार हर किसी के लिए काम नहीं कर सकते हैं और इसके दुष्प्रभाव हो सकते हैं या कुछ दवाओं के साथ परस्पर क्रिया कर सकते हैं। कोई भी नया सप्लिमेंट लेने से पहले स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श करना हमेशा सबसे अच्छा होता है, । 

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय मे यह उपाय भी हर कोइ कर सकता है जिसका कोइ साइड इफेक्ट नहीं है । मित्रों हम ने यहा पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय मे कुल 13 उपाय बताए है यह उस व्यक्ति पर निर्भर करता है की उस पर कोनसा पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय सही लगता है । साथ ही हमने आयुर्वेद मे पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय तोर पर 10 पतंजलि की मेडिसीन भी आप की सामने रखी है जीसे आप डॉक्टर की सूचना नुसार ले कृपया सारे चूर्ण न ले इसमे से एक चूर्ण जो आप के डॉक्टर सलाह दे  ।  इम्यूनिटी बढ़ाने  वाले फूड्स की जानकारी के लिए यंहा क्लिक करे 

 

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *