Hijab Controversy प्रज्ञा ठाकुर का बयान जिस देश मे हो नारी की पूजा उस देश मे हिजाब की जरुरत नहीं

Hijab Controversy प्रज्ञा ठाकुर का बयान

भोपाल ;कर्नाटक हिजाब विवाद मे भाजपा सांसद एवम हिन्दुत्व नेता साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर का बड़ा बयान  Pragya Thakur on Hijab Controversy मध्य प्रदेश  की राजधानी भोपाल (Bhopal) से भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सांसद बनी साध्वी प्रज्ञा सिंग ठाकुर जी  ने विवादित हिजाब (Hijab) मुद्दे पर अपना  बयान दिया है. उन्होंने आज एक निजी टीवी चनेल से वार्ता लाप करते हुए  कहा है कि भारत नारी शक्ति को पूजने वाला देश है ओर जिस देश में नारी को भगवान मान कर पूजा जाता हो उस देश मे हिजाब की जरूरत नहीं है, साध्वी प्रज्ञा सिग जी का ये बयान देश मे चल रहे विवादित हिजाब के बीच आया है. देश की कुछ सो कॉल्ड राजनेतीक पार्टिया इस बयान को  मुद्दा बनाकर  5 राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनाव  में विवाद के रूप मे खड़ा कर रहे है। लेकिन साध्वी जी ने भारतीय परंपरा को दर्शाता यह बयान दिया है । 

प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि मदरसों में हिजाब पहन कर जाइए, मगर स्कूल-कालेज में ये नहीं चलेगा. मुसलमान स्त्रियों को घर में हिजाब पहनना चाहिए, क्योंकि उनको अपने घरों में परेशानी होती है.

Hijab Controversy प्रज्ञा ठाकुर जी  ने समझाया हिजाब ओर खिजाब का मतलब 

Hijab Controversy पर आगे बात करते हुए साध्वी एवम सांसद प्रज्ञा ठाकुर आगे कहा की  खिजाब का उपयोग उम्र छिपाने के लिए किया जाता है. ओर  हिजाब का इस्तेमाल चेहरा छिपाने के लिए होता है. आगे साध्वी जी कहती है मुस्लिम महिलाओं को जादा खतरा उनके फूफा, चाचा और मामा के लड़कों से ही  है, इसलिए उन्हेंशिक्षा संस्था के बजाय  घर में ही हिजाब लगाना चाहिए.

बीजेपी सांसद ओर साध्वी जी  ने आगे कहा कि देश का हिंदू तो सनातनी परंपरा को मानते हैं. सनातन हिंदू धर्म में नारी को देवी का स्वरूप माना जाता है ओर नारी को पूजा जाता है , इसलिए देश की हिंदू महिलाएं सुरक्षित होती हैं.

साध्वी प्रज्ञा सिंग ठाकुर जी  ने शिक्षण संस्थानों में Hijab Controversy पर बोलते हुए कहा कि देश के हिंदू छात्र भी गुरुकुल में भगवा वस्त्र पहनते हैं, लेकिन जब बात  स्कूल-कॉलेजों की आती है तब हिन्दू छात्र स्कूल का में यूनिफॉर्म पहनते हैं ओर देश के सर्व धर्म समभावका सम्मान करते है. अगर देश के सविधान की बात की जाए तो मुसलमान भी मदरसे में कुछ पहन सकते है, लोगों को इससे फर्क नहीं पड़ता, लेकिनबात जब  स्कूल-कॉलेज की हो तोहिजाब की कोई जरूरत नहीं है देश सविधान के हिसाब से ही चले.

मित्रों यह था साध्वी जी का सीधा सीधा बयान जो कर्नाटक मे घटित Hijab Controversy  पर आया है। आप को क्या लगता है साध्वी जी का बयान सही है क्या शिक्षा संस्थानों धर्म से दूर रखा जाए या नहीं कमेन्ट मे आप की राय जरूर दे । 

ये भी पढ़ें-

हिजाब विवाद hijab Controversy

शिना बोरा हत्याकांड सुप्रीम कोर्ट ने नहीं दी इंद्रायणी को जमानत SHINA BORA MURDER 

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *